निवारण पोर्टल में आपका स्वागत है

रेल कर्मचारियों की कार्य से संबंधित शिकायतों का निवारण करने के लिए एक ऑन-लाइन सिस्‍टम का सृजन करके उन्‍हें सीधे टैक्‍नोलॉजी के लाभ प्रदान करने के लिए माननीय रेल मंत्री द्वारा निवारण की शुरूआत की गई है।

देश में एकमात्र सबसे बड़ा नियोक्‍ता होने के नाते भारतीय रेल पर बहुत बड़ी जिम्‍मेदारी है कि वह इस विशाल देश के विभिन्‍न भागों में फैले लगभग दस मिलियन सेवारत और पूर्व रेल कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्‍यों की विभिन्‍न जरूरतों को पूरा करे।

भारतीय रेल कर्मचारियों से संबंधित सभी मामलों में कार्रवाई करने के लिए एक बहु-विभागीय विशाल तंत्र की सहायता से इस चुनौतीपूर्ण कार्य को सफलतापूर्वक पूरा कर रही है। बहरहाल, प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में जबरदस्‍त उन्‍नति से हमारे सामाजिक वातावरण में बदलाव आया है, जिससे कर्मचारियों और उनके आश्रितों की आकांक्षाएं बढ़ी हैं, जिन्‍हें प्रौद्योगिकी की सहायता के बिना पूरा करना संभव नहीं है। माननीय रेल मंत्री की पहल पर सेवारत और सेवानिवृत्‍त रेल कर्मचारियों की शिकायतों के निवारण के लिए ऑनलाइन प्‍लेटफार्म के रूप में निवारण के सृजन इस पृष्‍ठभूमि में देखा जाना चाहिए।

निवारण, कर्मचारियों की आकांक्षाओं और मानव द्वारा संचालित सिस्‍टम द्वारा उन्‍हें पूरा करने की गति के बीच के अंतर के कारण पैदा होने वाली कर्मचारियों की शिकायतों के समाधान में भारतीय रेल के प्रयास को आगे बढ़ाएगा। निवारण का उद्देश्‍य कर्मचारियों के मामलों का समाधान करने से संबंधित सभी प्राधिकरणों को एक प्‍लेटफार्म पर लाना है ताकि अनावश्‍यक विलम्‍ब से बचा जा सके। निवारण की संरचना में लगभग 200 कार्यालयों और जूनियर स्‍केल से उच्‍चतर प्रशासनिक ग्रेड स्‍तर के 3000 से अधिक अधिकारियों को शामिल करने का प्रस्‍ताव है, ताकि इस अपने किस्‍म का सर्वाधिक व्‍यापक और पारदर्शी तंत्र बनाया जा सके।

यह एप्लिकेशन रेल मंत्रालय के स्‍थापना/ईआवी और कम्‍प्‍यूटीकरण एवं सूचना प्रणाली निदेशालय, क्रिस और सॉफ्टवेयर डेवलेपर एचपी के सामूहिक प्रयासों का परिणाम है।